Thursday, 28 December 2017

आज है पौष पुत्रदा एकादशी, व्रत से दूर होंगे संतान के सभी कष्ट...



आज है पौष पुत्रदा एकादशी, व्रत से दूर होंगे संतान के सभी कष्ट पौष माह के शुक्ल पक्ष की ग्यारवीं तिथि को मनाया जाता है पौष पुत्रदा एकादशी। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करने का विधान है। भगवान विष्णु के पूजन का शुभ मुहूर्त सुबह 10 बजे है। इस समय भगवान विष्णु का तुलसी, मक्खन, चंदन से पूजा करनी चाहिए और संतान की प्राप्ति या संतान के सभी कष्ट दूर करने की कामना करनी चाहिए। निसंतान दंपतियों को इस व्रत को करना बहुत ही फलदायक माना गया है। इस व्रत के बहुत नियम भी हैं इसलिए पूरे विधि विधान से इस व्रत को करना चाहिए। आगे पढ़ें व्रत की कथा: भद्रावती नगर में राजा सुकेतुमान व उनकी पत्नी शैव्या वंशज रहित थे। राजा रात-दिन बस इसी बात से दुखी रहते थे। एक दिन चिंतित राजा दुखी मन से वन में गए। राजा प्यास के मारे भटकने लगे। कुछ दूर जाकर उन्हें एक सरोवर दिखा, जैसे ही वो सरोवर के पास पहुंचे वहां उन्हें श्रृषि दिखाइ दिए। राजा ने श्रृषि को प्रणाम किया। उस दिन पौष पुत्रदा एकादशी थी और श्रृषि विश्वदेव थे। वे इस सरोवर में स्नान करने आए थे। मुनियों ने राजा का हाल सुनकर उसे संतान देने वाली पुत्रदा एकादशी का व्रत करने के लिए कहा। कुछ समय बाद राज को पुत्र की प्राप्ति हुई। इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है। ये वीडिओज़ देखने के लिए धनयवाद Like बटन को प्रेस करना Subscribe करना ओर हा अपने प्रियजनों को Share करना न भूले। Video Link : Please subscribe My Channel and click on bell icon - https://www.youtube.com/c/howtolearnastrologyinhindi Share This Video : : 😀 Follow Us Socially 😀 🌐 Facebook : http://ift.tt/2wEJTB6 🌐 Twitter : https://twitter.com/AstrologyLearn 🌐 Google+ : http://ift.tt/2yuWeFj blogger : http://ift.tt/2wEJUFa Tumblr : http://ift.tt/2ytXF71 🔊 LIKE ➡ SHARE ➡ SUBSCRIBE by How To Learn Astrology in Hindi



via Tumblr http://ift.tt/2zJhtTp

No comments:

Post a comment